बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में








बड़नगर /( निहारिका वाणी ) बड़नगर के कस्बा नुमा शहर में अवैध गतिविधियों या यूं कहिए जिस्मफरोशी जैसी गतिविधियों की बू से बड़नगर जैसे शांति ओर अमन शहर की साख को बट्टा लगने लग गया है । एसा ही मामला दिनांक 16 जनवरी के तड़के 11.30.बजे बड़नगर पुलिस की छापामारी कार्यवाही में सुर्खियों में आया है। हजारीबाग बस स्टैंड स्थित होटल शिव पैलेस में, पुलिस को सूत्रों से अवैध गतिविधियों के संचालित होने की कई दिनों से जानकारी मिल रही थी। शनिवार सुबह करीब 11:30 बजे पुलिस ने होटल शिव पैलेस पर दबिश दी, दबिश के दौरान होटल शिव पैलेस के सेकंड फ्लोर पर एक कमरे में एक युवक एवं युवती को संदिग्ध अवस्था में पुलिस ने पुछताछ के लिए अपनी अभिरक्षा में लिया हैं। प्रारंभिक पुछताछ में पता चला है की संदिग्ध युवक देवास का रहने वाला है तथा युवती बडनगर शहर के निकट लगने वाले गांव की हैं, उक्त गांव बड़नगर उज्जैन रोड़ पर स्थित होकर, उक्त युवती ग्राम के एक प्रतिष्ठित परिवार की बताई जा रही है । दोनों संदिग्धों (युवक युवती) को पुलिस उक्त होटल से पुलिस थाना बड़नगर पर ले कर गयी थी,। प्रारंभिक पुछताछ पश्चात युवती को पुलिस ने युवती के रिश्तेदारी में लगने वाले भाई के सुपुर्द कर दी हैं, वही युवक अभी भी बड़नगर थाने पर पुलिस हिरासत में है। बताया जाता है कि होटल शिव पैलेस में काफी समय से इस तरह की गतिविधियां संचालित होती है। होटल संचालक द्वारा बाहरी लोगों को होटल में कमरे किराए पर देता है और इस प्रकार की अवैध गतिविधियां अपने होटल में संचालित करवाता है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को होटल शिव पैलेस के जिस कमरे में देवास का युवक ओर बड़नगर के निकट गांव की युवती पकड़े गए हैं, उसी कमरे में कुछ समय पूर्व भी इसी प्रकार की गतिविधियों के चलते पुलिस ने दबिश दी थी। अब देखना होगा कि पुलिस प्रशासन इस होटल संचालक द्वारा एसी अवैध गतिविधियां संचालित करवाने पर, किस प्रकार की कार्रवाई करती हैं या पूर्व की भांति लीपा-पोती कर दी जाएगी ? यह तो पुलिस कार्रवाई से पता चल ही जाएगा । फिलहाल यही कहा जा सकता है कि, बड़नगर के हजारीबाग बस स्टैंड स्थित होटल शिव पैलेस में इस तरह से युवक-युवतियों को कमरे किराए पर देकर, अवैध यौन संबंधो को स्थापित करने के लिए रूपए लेकर समाज ओर कानून के विरुद्ध गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है, जोकि बहुत ही शर्मनाक होकर निंदनीय है।


 जब इस संबंध में थाना प्रभारी से मिडिया ने कार्रवाई की जानकारी चाही तो, थाना प्रभारी श्री सतनाम सिंह ने गोलमाल जवाब दिया , मेरे द्वारा होटल संचालक को बुलाया गया है, जांच करने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।


होटल संचालक से पुलिस क्या पुछताछ करेगा,जब उभय पक्ष में से पुलिस ने एक को परिवार को सोपं दिया है ? य़दि दोनों उभय पक्ष पुलिस अभिरक्षा में होते ओर उनसे यदि पुलिस इस बात की पुष्टि करवा सकती की, हमने संदिग्ध गतिविधियों को अंजाम देने के लिए ही होटल का कमरा किराए पर लिया था , तब होटल संचालक पर कोई कार्रवाई संभव हो सकती ओर उभय पक्षो पर भी।
अब तो कुछ नहीं बचा है सांप निकल गया है ओर घेरी पर लठ चलाने की आवाज ही हम सुन सकते हैं।

Popular posts from this blog

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई