एक्शन में पुलिस कप्तान, जिले में नही चलेगा ओपन टू क्लोज का कारोबार - पुलिस महकमे को किया निर्देषित, सटोरियों में मचा हड़कम्प

 





शाजापुर। ओपन टू क्लोज के अवैध धंधे सहित पूरे जिले में कहीं भी अवैधानिक गतिविधियां संचालित नहीं होने दी जाएंगी। इसे लेकर पुलिस कप्तान ने कड़ा रूख इख्तियार कर लिया है। उन्होंने सख्त निर्देष दिए हैं कि कहीं भी जुंए-सट्टे जैसी अवैध गतिविधियां संचालित न होने दी जाए। यदि ऐसा पाया गया तो न सुनवाई न पेशी। सीधे कार्रवाई की जाएगी। पुलिस कप्तान के एक्शन मोड में आते ही ओपन-टू-क्लोज के महारथी अब साइलेंट मोड में जाने की तैयारी में हैं।

वैसे पुलिस कप्तान शुरू से ही सटोरियों को लेकर सख्त हैं। बावजूद जिले में सट्टे के महारथी कही से भी कोई न कोई जुगाड़ बैठाकर अपनी लत दूर कर रहे थे। लेकिन हाल ही में सटोरियो के बुलंद हौंसलों ने उन्हें कड़ा रूख इख्तियार करने को मजबूर कर दिया है। यही वजह है कि उन्होंने अपने महकमे को अब सख्ती से सटोरियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देष दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिले में कहीं भी इस तरह की गतिविधियां संचालित न होने दी जाए। यदि ऐसा पाया गया तो संबंधित पुलिस कर्मी को भी बख्शा नहीं जाएगा। इस खबर के बाद से सटोरियों में हड़कंप मचा हुआ है और वे पुलिस कप्तान के एक्शन मोड से इस तरह खौफ हैं कि खुद ने ही साइलेंट मोड पर जाने की तैयारी कर ली है।

कई पुलिस वालों का बढ़ा रक्तचाप

सटोरियों के चहेते और उनके हमदर्द कई पुलिस वाले भी अपने कप्तान के एक्शन मोड से काफी दुखी हैं और इन दिनों उनका ब्लड प्रेषर 100 से भी अधिक पहुंच गया है। क्योंकि सट्टा संचालित करने वाले पहले अपने सेटिंग के पुलिस अधिकारी को सेट करके रखते हैं और टाइम टू टाईम उन्हें भोग लगाकर अपने धंधे को चार चांद लगा रहे थे, लेकिन जब से पुलिस कप्तान ने कड़ा रूख इख्तियार किया है तब से उन्हें भी चिंता सताने लगी है। इधर सटोरियों के हमदर्द खाकी वालों को लिए हुए बयाने का बोझ सताने लगा है। उन्हें डर है कि कही उन्होंने कोई कार्रवाई की और उनकी षिकायत कप्तान तक पहुंच गई तो क्या होगा। वही यदि कभी कार्रवाई करना पड़ी तो सटोरियों के खाए नमक की अदायगी कैसे होगी। यही वजह है कि वे अब बगले झाकते नजर आ रहे हैं।

मोबाइल रिचार्ज पड़ रहा भारी

पर्ची प्रथा बंद होने के बाद अब सटोरिये हाईटेक होकर मोबाइल पर आनलाईन ओपन टू क्लोज करने में लगे हुए हैं, लेकिन एक कदम आगे पुलिस कप्तान ने इसे लेकर भी अपने अमले को सख्त निर्देषित किया है। साहब के इस आदेश से उन लोगों को चिंता में डाल दिया है जिन्होंने पर्ची प्रथा बंद होने के कारण आनलाईन प्रथा शुरू करने के लिए मोबाइल मे लंबे समय बाद रिचार्ज करवाया जो कप्तान के एक्शन मोड की वजह से महंगा पड़ गया। अब सटोरियों को ये समझ नहीं आ रहा कि वे साहब के इस आदेश को हल्के में लें या सीरियस। क्योंकि पुलिस वालों ने भी अपने कप्तान के आदेश के पालन में दबिश देना शुरू कर दिया है। जिसके चलते अब सटोरिये खाकी को देख खौफ खाने लगे हैं।

सूचना मिलते ही डाली दबिश, भाग निकले सटोरिये

सटोरियों की सूचना जब पुलिसकर्मी को मिलती थी तो मौके पर सेटिंग हो जाती थी या ज्यादा से ज्यादा पुलिसकर्मी पहले सूचना देकर सटोरियों को रास्ता नपवा देते थे, लेकिन अब सूचना सीधे कप्तान के  पास पहुंच रही है। जिसने सटोरियों का जीना मुष्किल कर रखा है। गत दिनों ही किसी ने पुलिस कप्तान को राजराजेश्वरी मंदिर के पीछे सट्टा संचालित होने की सूचना दी। इस पर कप्तान ने सीधे कार्रवाई के निर्देष दिए और सट्टा बंद करवा दिया था।


इनका कहना है....


जिले के सभी थाना प्रभारियों को निर्देषित कर दिया गया है कि अपने-अपने थाना क्षेत्रों में सट्टा-जुंआ एवं अन्य अवैधानिक गतिविधियां संचालित करने वाले लोगों पर कठोर कार्रवाई करें। अवैध धंधे में लिप्त लोगों के द्वारा जो अवैध चल अचल संपत्ति एकत्रित की गई है उसकी जानकारी भी जुटाई जा रही है। जिले में असामाजिक तत्वों पर जिला बदर जैसी कार्रवाई भी की जा रही है। यदि कोई थाना प्रभारी के क्षेत्र में भी यदि इस तरह की गतिविधियां चल रही हैं तो उनके खिलाफ भी प्रषासनिक कार्रवाई की जाएगी।

- पंकज श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक - शाजापुर

Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई

बहुचर्चित झिंझर कांड में बना आरोपी आरक्षक खोड़े की केंद्रीय जेल भेरूगढ़ में दिल का दौरा पड़ने से मौत।