सीएम हेल्पलाइन के संतुष्टि से शिकायतों का निराकरण नहीं करने के कारण लोक निर्माण विभाग, खनिज, खाद्य, श्रम अधिकारी और झारड़ा तहसीलदार का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश, कलेक्टर ने टीएल बैठक ली






उज्जैन । कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आज समय-सीमा के पत्रों की समीक्षा बैठक में लम्बित प्रकरणों की समीक्षा की तथा सीएम हेल्पलाइन में शिकायतों के निराकरण के बारे में पड़ताल की। कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन में संतुष्टि से शिकायतों का निराकरण नहीं करने एवं प्रदेश में रेंकिंग में नीचले पांच स्थान पर आने के कारण लोक निर्माण विभाग, खनिज, खाद्य, श्रम विभाग के अधिकारी और झारड़ा तहसीलदार का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने चेतावनी दी है कि रेंकिंग में सुधार नहीं करने पर सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निलम्बित भी किया जायेगा। बैठक में कलेक्टर द्वारा निम्नानुसार निर्देश दिये गये :-


चिटफंड कंपनियों की धोखाधड़ी के विरूद्ध जांच में चिन्हित की गई 17 कंपनियों के विरूद्ध कार्यवाही को आगे बढ़ाने के निर्देश देते हुए पीड़ितों की धनराशि लौटने की ठोस कार्यवाही के निर्देश दिये हैं।


• आयुष्मान कार्ड के लिये शहरी क्षेत्र में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर लोगों को समझाईश देने के लिये कहा गया है। कार्यकर्ताओं को पेम्पलेट छपवाकर दिये जायेंगे, जिससे आयुष्मान योजना के पात्र कौन-कौन लोग हैं, इसकी जानकारी लोगों को मिल सकेगी। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिये उज्जैन नगर निगम एवं नगरीय निकायों में 31 दिसम्बर तक विशेष शिविर आयोजित किये जा रहे हैं।


• कृषि विभाग के उप संचालक को निर्देश दिये कि उनके विभाग की सीएम हेल्पलाइन पर लम्बित दो हजार से अधिक शिकायतों के निराकरण कराने के लिये वे गंभीरता से प्रयास करें। बैठक में बताया गया कि सीएम हेल्पलाइन पर 158 ऐसी शिकायतें हैं, जिनके बैंक खातों में त्रुटि होने के कारण किसानों को बीमा राशि नहीं मिली है। 234 ऐसी शिकायतें हैं, जिनमें किसानों के खाते में पैसा ट्रांसफर हो चुका है किन्तु शिकायतें अभी बन्द नहीं हुई हैं। उक्त सभी शिकायतों को एक सप्ताह में निराकृत करने के निर्देश दिये गये हैं।


• वर्ष 2017 एवं 2018 के फसल बीमा की राशि 157 किसानों को बैंक अधिकारियों की गलती की वजह से नहीं मिल पाई थी। उक्त सभी किसानों की राशि एवं किसानों का विवरण तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिये गये हैं, जिससे सम्बन्धित बैंक अधिकारियों से राशि वसूल कर किसानों के खाते में राशि डाली जा सके।


• सिंहस्थ के दौरान त्रिवेणी से चिन्तामन गणेश के लिये निकाली गई सड़क एवं उज्जैन शहर में कमरी मार्ग के चौड़ीकरण के दौरान तीन व्यक्तियों के मकान अधिग्रहित करने के सम्बन्ध में लम्बित शिकायतों का निराकरण करने के निर्देश कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग एवं नगर निगम को दिये हैं। उक्त चारों शिकायतकर्ताओं का कहना है कि उनको जमीन का मुआवजा नहीं मिला है। कलेक्टर ने नगर निगम आयुक्त, सिटी एसडीएम एवं लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को संयुक्त रूप से एक सप्ताह में कार्यवाही करने के लिये कहा है।


• बैठक में कलेक्टर ने कहा कि बड़नगर एसडीएम डॉ.योगेश भरसट द्वारा कुपोषण कम करने के लिये अपने अनुभाग में नवाचार करते हुए अच्छा काम किया गया है। जिले के अन्य एसडीएम भी इसी तर्ज पर कुपोषण से मुक्ति के लिये अभियान चलायें।


• कलेक्टर ने राज्य शासन के निर्देश अनुसार सभी एसडीएम को यह सुनिश्चित करने के लिये कहा है कि प्रत्येक पटवारी हलका मुख्यालय पर प्रत्येक मंगलवार एवं गुरूवार को अनिवार्य रूप से पटवारी उपस्थित रहें। कलेक्टर ने कहा है कि यदि किसी पटवारी के पास तीन से अधिक हलके हैं, तो उसका एक हलका अन्य पटवारी को दे दिया जाये, जिसके पास एक हलका है। इसके बाद भी यदि किसी पटवारी के पास एक ही हलका रहता है तो उक्त पटवारी सप्ताह में मंगलवार एवं गुरूवार को दो दिन हलका मुख्यालय पर रहेगा।


 बैठक में अपर कलेक्टर श्री अवि प्रसाद, नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, जिला पंचायत सीईओ श्री अंकित अस्थाना, एडीएम श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, अपर कलेक्टर श्री जितेन्द्रसिंह चौहान, जिले के सभी एसडीएम सहित विभिन्न विभागों के कार्यालय प्रमुख मौजूद थे।



Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई