गंभीर डेम  के  बैक वाटर  क्षेत्र में  जहाज  व  नावों  से  रेत खनन करने वाले बड़े रैकेट का  पर्दाफाश  20 टन वजनी जहाज को तोड़ा गया  दो बड़ी नाव  जप्त कर तोड़ दी गई 

 




               वीरेंद्र ठाकुर संपादक



उज्जैन। वर्षों से गंभीर डेम के किनारों से लगे हुए घटिया और बड़नगर तहसील के ग्रामों में अवैध रेत माफिया ग्रंथ खनन कर इसका व्यापार कर रहै है। जब कोई भी समूह इस पर कार्रवाई करने जाता है तो वे मौके से भाग जाते हैं और ड्रा को पानी में डूबा देते हैं ।जिससे उन्हें पकड़ना मुश्किल होता है। पुलिस और राजस्व के हमले के साथ सन्युक्त रूप दबिश दी गई। रेत माफिया द्वारा दौड़ की कहानी फिर दोहराई गई। रेत माफिया राजस्व के हमले से झूमा झटकी कर नाव के बारे में भाग गए। यह घटना 21 दिसंबर की है। 

एसडीएम डॉ भरसट द्वारा इस मामले में पहल करते हुए कलेक्टर से आशीष सिंह से एसडीआरएफ की टीम ने पूछा। 
 

 एस डी एम आर आर की टीम की टीम आज 22 दिसंबर को मोटर बोट के साथ गंभीर नदी के डैम में के आसपास के किनारों पर गश्त के लिए निकली। आज दिन में उन्होंने एक स्थान पर 20 टन वजनी जहाज को पानी के अंदर देखा। बड़ी सी क्रेन लाकर इस जहाज को किनारे पर लाया गया और दिन भर कार्रवाई करते हुए जहाज के टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए। यही नहीं एसडीआरएफ की टीम को दो नावें भी मिलीं जिन्हें नदी से बाहर निकाला गया था, उन्हें भी तोड़ने की कार्रवाई जारी है। एस डी एम डॉ। भरसट ने बताया कि संपूर्ण कार्रवाई करते-करते शाम के 6: 30 बज गए और अंधेरा हो गया। किंतु राजस्व अमला पीछे नहीं हटाए गए क्षेत्र के एक कोटवार ने लगातार नदी में 5 घंटे पानी में रहकर तैर कर बड़ी नाव जहाज व मशीनों को रस्सियों से क्रेन से बांधा और भरसक प्रयास करके इनको किनारे पर लेकर आए ।इस तरह रेत काफियाओं पर कड़ा प्रहार करते हैं। उनकी कमर तोड़ दी गई है। अवैध खनन खनन करने वाले माफिया पर खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण पंजी बद्ध कर लिया गया है।

Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई