स्वच्छाग्राही संघ जिला उज्जैन द्वारा कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौंपा


 



 


उज्जैन / स्वच्छाग्राहीयों को स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत संपूर्ण भारत की प्रत्येक पंचायत में एक-एक स्वच्छाग्राही का प्रशिक्षण आदि प्रक्रिया के बाद चयनित किया गया था, जो कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौच मुक्त भारत एवं ग्रामीण क्षेत्र की पंचायत को ओडीएफ कर ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छता का प्रचार प्रसार एवं स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए नियुक्त किया है तथा इनको शासन के द्वारा कोरोना काल के समय को देखते हुए समस्त पंचायत के स्वच्छाग्रहीयों को मनरेगा में मैट के तौर पर नियुक्त किया था मगर ग्राम पंचायत के अधिकारियों द्वारा किसी भी पंचायत में स्वच्छाग्रहीयों को अभी तक मैंट के तौर पर नहीं लगाया गया है और ना ही इनको कोई मानदेय दिया जा रहा है स्वच्छाग्रही स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में अपनी सेवाएं लगातार दे रहे हैं एवं कोरोना काल में भी स्वच्छाग्रही द्वारा ग्रामीण क्षेत्र मैं अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है l ,इस विषय को लेकर स्वच्छाग्रही संघ के स्वच्छाग्राहीयों द्वारा कलेक्टर महोदय से मांग की गई है कि स्वच्छाग्राहीयों को मेट के तौर पर चयन किया जाए , नियमित मानदेय दिया जाए।ताकि स्वच्छाग्रही अपने परिवार का पालन पोषण कर सके l इस अवसर पर जिला अध्यक्ष राजेंद्र परिहार,जिला सचिव आकाश परमार मुंजाखेड़ी,जिला उपाध्यक्ष अर्जुनसिंह डोडिया,करण चौधरी,लखन बनिहार,विरेंद्र पंडीया,मांगीलाल बोड़ाना,आदि स्वच्छाग्रही उपस्थित रहे l


Popular posts from this blog

जनता को लूटने के लिए लगाए जा रहे हैं नए मीटर --विधायक महेश परमार

करणी सेना मूल की महारैली में उमड़ा जनसैलाब। हजारों की संख्या में पहुंचे

एसपी के कड़े निर्देष के बाद भी कई थाना क्षेत्रों में फल-फूल रहा सट्टा कारोबार अधिकारियों की आंखों में धूल झोंक कई थाना प्रभारियों की शै पर सटोरिये पर्चियों के साथ-साथ मोबाइल पर खिला रहे गुल