पुलिस विभाग में मचा हडकंप, लिफाफे लेते विडियो वायरल होने से ट्रांसपोर्ट कमिश्नर व्ही मधुकुमार को हटाया पद से-


 ‌




निलेष परमार


रतलाम / लिफाफों का प्रचलन कोई नया नहीं हैं, इन लिफाफों के राज ने कंई जिंदगियां बर्बाद कर दी,इसके लिए दोष अधिकारीयों का नहीं हैं, सबसे अधिक दोष सफेद पोश धारियों का हैं । बस इस वायर विडियों में दोष इतना हैं ,की लिफाफों का व्यवहार करने वाले पुलिस अधिकारी दिखाईं दे रहें हैं, सूत्रों की माने तो वर्ष 2016 का आगर मालवा के सर्किट हाऊस का बताया जा रहा है तब व्ही मधुकुमार उज्जैन के आई जी थें । लिफाफे स्वीकार करने वाले सिविल ड्रेस में हैं वे व्ही मधुकुमार बतायें जा रहें हैं इस विडियो वायरल होंने के पश्चात व्ही मधुकुमार को शनिवार देर रात सरकार ने ट्रांसपोर्ट कमिश्नर पद से हटाकर पुलिस मुख्यालय में एडी जी बना दिया गया है । । अब इन बंद लिफाफे में ऐसा क्या राज हैं जो साहब लिफाफों को अपनी,,, तले दबायें ही जा रहें हैं!!!? चर्चा का विषय हैं,। इस विडियो ने कंईयो को बंगले झाकंने के लिए मजबूर कर दिया । लिफाफों की व्यवस्था से परेशान कुछ पुलिस अधिकारी इस विडियो वायरल होंने से खुश भी हैं तो कुछ दुखी भी । स


रहे व्ही मधुकुमार 1991 बेज के आईपीएस अधिकारी हैं


 लिफाफे आदान-प्रदान करने वाले अधिकारी /व्यक्ति के नाम की हम पुष्टि नहीं करते हैं ना ही यह पुष्टि करते हैं कि यह विडियो वास्तविक पुलिस विभाग का ही हैं, किन्तु चिंता ओर चिंतन का विषय तो अवश्य हैं । मध्यप्रदेश सरकार के मंत्री बता रहे हैं,जांच करवायेंगे की आखिर इन लिफाफों में क्या था


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई