म,प्र,पंचायतीराज अधिकारी कर्मचारीयो के बीच, फिर डाला ढाका कोरोना ने , एक साथी के जीवन को ढकार गया-

 



चुन्नीलाल परमार


उज्जैन - पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की धुरी के सशक्त सिपाही पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारी ओर अधिकारी ही होते हैं । जिसमें ग्राम रोजगार सहायक से लगाकर जनपद पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी ही होते हैं । इन सब में महत्वपूर्ण कडी होती हैं पंचायत समन्वय अधिकारी जिनका काम होता है निचले स्तर से उच्च स्तर तक समन्वय स्थापित करना । वर्तमान परिप्रेक्ष्य में कोरोना का कहर विश्व में अपना नंगा नाच ,नाच रहा है , इसके खूनी पंजों से कोई भी अछूता नहीं है, कंई दुरभाग्यशाली कोरोना के खूनी पंजो में जकडा कर अपने प्राण त्याग चूके हैं ।कोरोना संक्रमण काल में त्रि स्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के सभी अधिकारी कर्मचारी  अपनीजान जोखिम में डालकर सेवा दे रहे हैं । कुछ अर्से पूर्व आगर ओर शाजापुर जिलें में पदस्थ हमारे दो पीसीओ साथी कोरोना के काल के ग्रास बनकर, अपनी जान गंवा चुके हैं । आज फीर निमाड़ क्षेत्र के खरगोन जिलें की जनपद पंचायत सेगाव में पदस्थ पीसीओ श्री महेन्द्र प्रताप सिंह अवास्या के *कोरोना के संक्रमण से निधन होने की जानकारी म,प्र, के समस्त पीसीओ ओर अन्य त्रि स्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के अधिकारी कर्मचारी को मिली, सब इस दुखद संदेश से स्तम्भ रह गयें हैं । बडा दुख का विषय हैं की इस ला इलाज महामारी के बीच में हमारे सभी साथी स्वयं ओर परिवार के प्राणों की फिक्र पाले बगैर सेवा दे रहे हैं बावजूद इसके कुछ जनपदों के सीईओ पीसीओ के बैठकों में आने में विलंब होने से या अ अपरिहार्य कारणों से , पीसीओ के वेतन काट रहे हैं , जो सर्वथा अनुचित हैं । दिवंगत महेन्द्र प्रताप सिंह जी अवास्या की आत्मा को ,मेरी ओर से अश्रु पूर्ण श्रदाँजलि अर्पित हैं ।


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई