झोलाछाप डॉक्टर बना ग्राम पंचायत बज्जाहेड़ा का सरपंच - पंचायत को भगवान भरोसे छोड़ दूसरे क्षेत्रों के मरीजों की जान से कर रहा खिलवाड़ - जनस्वास्थ्य रक्षक की डिग्री के नाम पर खुद ही डॉक्टर बना सरपंच


झोलाछाप डॉक्टर जगदीश पंवार।


वीरेंद्र ठाकुर


शाजापुर। कोरोना संक्रमण ने बड़े-बड़े नामी डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए थे, जिसका फायदा झोलाछाप डॉक्टर उठाने लगे हैं जिनके पास डिग्री तो महज प्राथमिक उपचार की है लेकिन उसकी आड़ में यह लोगों को कोरोना बीमारी से बचाव के इंजेक्शन और सरकारी दवाओं के नाम पर पैसे ऐंठ रहे हैं।


 


🔷 ऐसे ही एक डॉक्टर है ग्राम पंचायत बज्जाहेड़ा के ग्राम बिजाना में जिनका पद तो सरपंच का है, लेकिन पंचायत का विकास करने के बजाए यह झोलाछाप डॉक्टर लोगों की जान से खिलवाड़ करने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाता है,


🔷 जबकि शासन के स्पष्ट निर्देश है कि कोई भी झोलाछाप डॉक्टर सर्दी-जुकाम का भी उपचार नहीं कर सकते।


🔷 बावजूद इन निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए यह झोलाछाप डॉक्टर धड़ल्ले से अपनी दुकानदारी चला रहा है।


 


🔷 इस झोलाछाप का आलम ये है कि आंगनवाड़ी से मिलने वाली शासकीय दवाईयों को क्रय कर उन्हीं दवाओ के दोगुने दाम वसूल रहा है। इसके अलावा वह जनरिक दवाईयों के नाम पर भी मोटी रकम वसूल रहा है।


🔷 जबकि वर्तमान में कोरोना संक्रमण को देखते हुए कई नामी चिकित्सक और बड़े-बड़े अस्पतालों के डॉक्टरो ने अपनी क्लीनिक बंद कर सेवाएं कुछ दिनों के लिए बंद कर घर बैठ गए थे।


🔷 वहीं ये महाशय धड़ल्ले से लोगों को कोरोना का उपचार ग्राम बिजाना सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में मुहैया करा रहे थे। यदि यही सिलसिला आगे भी जारी रहा तो वैश्विक महामारी को रोकने के प्रशासन के तमाम प्रयास पानी में बह जाएंगे और इसके गंभीर परिणाम भी सामने आ सकते हैं।


🔷 लेकिन लंबे समय से यह सिलसिला चला आ रहा है जिसके काम की जांच करने की जहमत न किसी अधिकारी ने उठाई और सभी की आंखो के सामने यह गौरखधंधा पिछले कई सालों से अनवरत चला आ रहा है। अब तक यह कई मरीजों को इंजेक्शन और बॉटल लगाकर उन्हें झूठी दिलासा दे चुका है।


 


🔷 डिग्री जनस्वास्थ्य रक्षक की, काम एमबीबीएस का


🔷 ग्राम पंचायत बज्जाहेड़ा के सरपंच और झोलाछाप डॉक्टर जगदीश पंवार के पास डिग्री तो जनस्वास्थ्य रक्षक की है लेकिन खुद ही क्लीनिक खोलकर खुद का प्रचार एमबीबीएस का कर रहा है। जबकि नियमों की यदि बात करें तो इन्हें क्लीनिक खोलने की बात तो दूर बिना अनुमति के किसी मरीज को इंजेक्शन या बॉटल भी नहीं लगा सकते।


🔷 लेकिन झोलाछाप डॉक्टर द्वारा मरीजोें को धड़ल्ले से उपचार, इंजेक्शन लगाने के साथ-साथ कोरोना तक की दवाईयां बांटकर इस बीमारी से निजात दिलाने का दावा करता नजर आ रहा है।


 


🔷 रामभरोसे पंचायत का काम, ग्रामीणों को नहीं मिल रहा शासकी योजनाओं का लाभ


🔷 खुद को डॉक्टर बताने वाले झोलाछाप डॉक्टर जगदीश पंवार ग्राम पंचायत बज्जाहेड़ा के सरपंच भी हैं,


 


🔷 लेकिन लंबे समय से इन्होंने पंचायत का कोई काम नहीं किया है और ग्रामीण यहां आकर खाली हाथ लौट रहे हैं।


 


🔷 वर्तमान में चल रही किसी भी योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिला है


 


🔷 और ग्रामीण चक्कर लगा-लगाकर परेशान हो रहे हैं।


🔷 यही नहीं यहां कई तरह की अनियमित्ताएं भी इनके द्वारा की गई हैं जिनकी यदि जांच की जाए तो इनकी वास्तविकता सामने आ सकती है।


 


इनका कहना है...


 


🔷 ग्राम बिजाना में जगदीश पंवार नाम का व्यक्ति प्रतिदिन आ रहा है, जिनके द्वारा विभिन्न बीमारियों का उपचार किया जा रहा है। मैं खुद इन्हेें पिछले दो सालों से देख रहा हूं। प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से ये क्लीनिक खोलकर बैठते हैं जहां प्रतिदिन कई मरीज पहुंच रहे हैं।


 


🔷 कन्हैयालाल यादव, सरपंच ग्राम पंचायत- बिजाना


 


🔷 ऐसे किसी भी व्यक्ति को क्लीनिक खोलकर इंजेक्शन और बॉटल लगाए जाने का कोई अधिकार नहीं है। चाहे वह जन स्वास्थ्य रक्षक हो वह बॉटल-इंजेक्शन नहीं लगा सकता और न ही क्लीनिक खोल सकता है।


 


🔷 आपके द्वारा जानकारी दी गई है। यदि ऐसा किया जा रहा है तो यह गंभीर मामला है और जल्द ही जांच कर इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


🔷 अजयसिंह सोंती, बीएमओ, मोहन बड़ोदिया


 


जनस्वास्थ्य रक्षकों को पहले प्रशिक्षण दिया गया था उसके बाद इन्हें विकास क्लीनिक खोलने के अधिकार दिए गए थे, लेकिन नए नियमों के अनुसार इन लोगों को न क्लीनिक खोलने का कोई अधिकार है और न ही किसी भी प्रकार का उपचार करने का।


यदि इनके द्वारा कोरोना का उपचार किया जा रहा है तो यह गंभीर मामला है। जल्द जाकर जांच की जाएगी और यदि मामला सही पाया गया तो इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।


 


🔷 डॉ. प्रकाश फुलंब्रिकर- सीएमएचओ-शाजापुर


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई