4 जून को नाना खेडा बस स्टैंड पर खडी, पल्लवी बसो में आग लगाने वाला आरोपी धराया, सिटी एडिशनल एसपी रूपेश द्विवेदी ने किया पटाक्षेप घटना का-


सिटी एडिशनल एसपी रूपेश द्विवेदी ने किया पटाक्षेप घटना का-



 ( चुन्नीलाल परमार ) 


उज्जैन - लॉक डाउन में जब सारे शहर में पसरा था सन्नाटा ,तब आवश्यकता की पूर्ति ने लगा दी आग बसों में, ओर देखते ही देखते दसों बसें एक के बाद एक धधकने लगी, देखते ही देखते नाना खेडा बस स्टैंड पर मच गयी अफरा तफरी ,पुलिस ओर प्रशासन आये सख्ते में । 


🔷 जि हाँ, हम बात कर रहे हैं,लोक डाउन वक्त 4 जून को उज्जैन नाना खेडा बस स्टैंड पर खडी पल्लवी बस में एन सुबह 6 बजे लगी आग की, शहर था पूरा भयभीत कोरोना से, कोरोना से बचने के लिए शहर का हर बाशिंदा चौकसी बनाया हुआ था,। ऐसे वक्त में शहर के सन्नाटे को चिरते हुए फायर ब्रिगेड का काफिले ने रफ्तार पकडी कोयला फाटक से इन्दौर की ओर देख मंजर सब हो गयें हतप्रद। लगभग दस बसे पुरी तरह से आग ने अपनी चपेट में ले लिया था ।


🔷 जैसे तैसे फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया ।


🔷 घटना स्थल पर नाना खेडा थाने के सब इंस्पेक्टर भवंर सिंह इकबाल भी पहुंच गए थें ।


🔷 सूचना उज्जैन शहर में आग की तरह फेल गयी थी,जानकारी लगने पर उज्जैन सीटी एडिशनल एसपी रूपेश द्विवेदी,सीएसपी एच एन बाथम,एफएसएल अधिकारी अरविंद नायक भी मौके पर पहुंच गए थें ,एवं मौका निरिक्षण किया ।


🔷 पल्लवी बस के मैनेजर राठौड़ द्वारा थाना नाना खेडा में आगजनी का अपराध पंजीबद्ध करवाया जाने के पश्चात ,पुलिस ने प्रकरण को लिया विवेचना में ।


🔷 जांच में साक्षियों के कथन लेकर जांच को आगे बढाया गया ,चूंकि आगजनी करते हुए किसी व्यक्ति विशेष को किसी ने देखा नहीं था, ना ही एसा होते देखने का किसी ने तत्काल बताया था, एसी स्थिति में अग्यात व्यक्ति के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया ।


🔷 अब चला आरोप प्रत्यारोप का दोर* ट्रांसपोर्टर ने आगजनी में कुछ लेन देन वाले के हाथ होने की ओर भी इशारा किया था ,वहीं लाक डाउन में मजदूरों को छोडने में शासन से भुगतान को लेकर चल रही फाइलों की भी चर्चाओं का बाजार गर्म रहा ।


🔷 बावजूद इसके पुलिस ने ,अपनी खोजी दृष्टि को पैनी रखते हुए, आगजनी का कारगर कारण ढूंढने में उर्जा ओर अपना तंत्र लगाया हुआ था,। संदेही लोगों से पूछताछ करती रही, कुछ समय चौकीदार को कहे सुनें वाकिये ओर संदेह के आधार पर पकडा गया व्यक्ति रामचंद्र उर्फ चेना पिता गंगा पूरी उम्र 21 वर्ष निवासी धार झाबुआ ग्रामीण बैंक के पास झुग्गी झोपड़ी, के पिताजी चौकीदारी का काम करते थें,


🔷 एक दिन बस स्टाप द्वारा चेना के साथ अभद्रता व बद तमीजी की गयी थी ,जिससे क्षुब्ध होकर पल्लवी बसों में से ही डीजल निकालकर उन्ही बसों पर छिडक कर आग लगाना कबूल किया गया ।


🔷 आग लगाने का उद्देश्य पश्चात बताया जा रहा है, पहले रुपयों की आवश्यकता पूर्ति के लिए आरोपी ने बसों से दो बेट्र्री चोरी की थीं,चोरी का राज दफन आग में हो जायें, सो लगा दी ,दो बसों में आग ,देखते ही देखते कंई बसें आग के हवाले हो गयी ।


 🔷 बताया जाता है की पुलिस ने बसों से चुराई बैटरियां भी आरोपी के कब्जे से जब्त कर लि है । आरोपी जेल से झूटकर आया था ,लोक डाउन में रूपये की आवश्यकता थी, अवैधानिक रूप से रूपये कमाने के चक्कर में जि का जंजाल बन गया ।


 🔷 आरोपी को पकडने पर इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही ! 


🔷 नानाखेडा थाना प्रभारी अधिकारी सत नाम जी,सब इंस्पेक्टर मूनेन्द्र गौतम आरक्षक सुनील कुमार गौड़,राम मूर्ति रावत,सुनील बिठ्ठोरे,संजीव कुमार,मुकेश मालवीय,राजेंद्र की महत्वपूर्ण भूमिका रही है वहीं एफएसएल अधिकारी श्री मती प्रीति गायकवाड़,अरविंद नायक ।


🔷 जिला पुलिस अधीक्षक ने किया एलान पुरस्कृत करने का एसपी मनोज कुमार सिंह ने आरोपी को पकडने वाले पुलिस दल को नगद पुरस्कार देने की की हैं घोषणा ।


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई