उज्जैन पुलिस लाइन में सब इस्पेक्टर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की



वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें👇👇👇👇


https://youtu.be/_ZY-UhG1F9Q


 


स्वयं की सर्विस पिस्टल से


(वीरेंद्र ठाकुर) 


उज्जैन। 15 वीं बटालियन इंदौर की एक कंपनी को कानून व्यवस्था के लिये उज्जैन भेजा गया है। इसी बटालियन के प्लाटून कमांडर ने देर रात स्वयं की सर्विस पिस्टल से कनपटी में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। उसकी सगाई पूर्व में हो चुकी थी और 19 मई को शादी होने वाली थी। उसकी छुट्टी भी मंजूर हो चुकी थी फिर किन परिस्थितियों में उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया इसकी पुलिस द्वारा जांच की जा रही है।


एएसपी रूपेश द्विवेदी ने बताया कि दीपक वैध मूल रूप से सोजना जिला ललितपुर का रहने वाला था। मां दमोह में नर्स हैं। पिता आर्मी में थे और उनकी मृत्यु हो चुकी है। दीपक की बहन इंदौर में रहकर परीक्षा की तैयारी कर रही है। वर्ष 18-19 में दीपक 15 वीं बटालियन इंदौर में प्लाटून कमांडर के पद पर पोस्टेड हुआ था। उसकी एक बार सगाई होने के बाद टूट चुकी थी और दूसरी सगाई होने के बाद 19 मई को उसकी शादी होने वाली थी।


शहर में कानून व्यवस्था की दृष्टि से 15 वीं बटालियन की ए कंपनी को उज्जैन भेजा गया था जिसमें दीपक वैध भी यहीं ड्यूटी कर रहा था। सुबह दीपक के साथी उसे जगाने पहुंचे। अंदर से दरवाजा बंद था। दरवाजे के नीचे गेप से झांककर देखा तो फर्श पर खून बिखरा पड़ा था। इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई साथ ही दरवाजा तोड़कर बैरक में प्रवेश किया तो देखा कि दीपक का शव पड़ा था। उसकी कनपटी में गोली लगी थी, सर्विस रिवाल्वर शव से कुछ दूर पड़ी थी। दीपक द्वारा आत्महत्या की जानकारी बटालियन के जवानों को लगी तो उनमें शोक की लहर व्याप्त हो गई। एसपी मनोज कुमार सिंह स्वयं घटना स्थल पर पहुंचे और दीपक के परिजनों को सूचना के निर्देश भी दिये।


आखिरी समय तक मंगेतर से करता रहा बात
बताया जाता है कि दीपक अपनी मंगेतर से मोबाइल पर प्रतिदिन बात करता था। आखिरी कॉल उसकी मंगेतर का ही था। प्रारंभिक जांच में पुलिस द्वारा कयास लगाये जा रहे कि मंगेतर से किसी बात को लेकर अनबन के बाद संभवत: दीपक ने यह कदम उठाया होगा, जिसकी जांच शुरू की गई है।


 


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई