माधव नगर में 100 बेड का डेडिकेटेड कोविड-19 हॉस्पिटल प्रारंभ, पहले दिन सर्दी, खाँसी, बुखार व कोरोना लक्षण वाले 25 मरीज ओपीडी में आये

 



उज्जैन । उज्जैन जिले में कोरोना वायरस लड़ाई का एक नया दौर 30 मई से प्रारंभ हो गया है। शासकीय चिकित्सालय माधवनगर में तैयार किए 100 बैड के डेडिकेटेड कोविड-19 हॉस्पिटल में उपचार कार्य प्रारंभ हो गया है। 15 दिन के रिकॉर्ड समय कोविड 19 हॉस्पिटल के रूप में अपग्रेड किये हॉस्पिटल में सेंट्रलाइज्ड ऑक्सीजन एवम सक्शन लाइन, 9 वेंटीलेटर ,सांस लेने में तकलीफ होने पर काम आने वाली बाईपैप मशीन, लिक्विड ऑक्सीजन स्टोर करने के लिए स्टील टैंक की व्यवस्था की गई है। यही नहीं सारे वार्डस की नई साज-सज्जा, प्रत्येक बेड पर ऑक्सीजन देने की सुविधा, आईसीयू , महिला एवं पुरुष के अलग अलग वार्ड , पोर्टेबल एक्स रे मशीन आदि की व्यवस्था की गई है। माधव नगर हॉस्पिटल प्रभारी डॉ.भोजराज शर्मा ने बताया कि पहले दिन डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में 25 सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों ने ओपीडी में अपना परीक्षण करवाया।


 


कलेक्टर आशीष सिंह ने विगत 29 मई को रात्रि में माधव नगर हॉस्पिटल में तैयार किए गए कोविड-19 अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रत्येक वार्ड का निरीक्षण किया तथा यहां विकसित की गई सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने आईसीयू ,कोविड-19 वार्ड , पीपीटी किट पहनने उतारने के लिए बनाए गए पृथक पृथक डॉनिंग एवं डोपिंग कक्षों का निरीक्षण किया ।निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त क्षितिज सिंघल , मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ महावीर खंडेलवाल ,सिविल सर्जन डॉक्टर आरपी परमार ,नोडल अधिकारी डॉ एचपी सोनानिया , माधव नगर हॉस्पिटल के प्रभारी डॉ भोजराज शर्मा , आईएमए के अध्यक्ष डॉ तपन शर्मा , डॉ आशीष पाठक एवं अन्य चिकित्सक मौजूद थे।


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई