नारी शक्ति का प्रतिक,नायब तहसीलदार बड़नगर रूपकला परमार एवं  कोविड-19 के खिलाफ युद्ध में जुटे दिलेर पुलिसकर्मियों के लिए ड्यूटी सबसे पहले

 


 



नाम सुनते ही उनका, लोक डाउन हो जाता है सावधान ।


उज्जैन l बड़नगर l अधिकारी कंई देखे सुनें हैं जो अपना नाम प्रचारित करने के लिए मीडिया तंत्र को साथ में लियें घूमते हैं किन्तु ये कार्यपालिका मजिस्ट्रेट थोडे दुजे किस्म के हैं,


ना कोई ताम झाम विशेष ना कोई दिखावा, मुंह पर बांध दुपट्टा, लेकर स्कूटी निकल जाते हैं अकेले ही


लाक डाउन का जायजा लेने,लाक डाउन का मखोला उडाने वाले, मजाल है जो चले जायें बिना नसीहत लियें ! कोरोना नामक महामारी में लोक डाउन ओर संक्रमण से बचने के लिए,अधिकाँश अधिकारीयों ने घरेलू काम करने वाले सेवको को अवकाश दे दिया है, जो चोके चूल्हे से तालुकात रखे हुए थें उन्होने, पुनः चोके चूल्हे ओर घरेलू कार्य में हाथ बंटाने का तजुर्बा था उन्होने घरेलू कार्य में हाथ बटाने के साथ, अपना प्रशासनिक कार्य में भी कोई चूक नहीं कर रहे हैं, उन में से एक नाम इन तहसीलदार परमार मैडम का भी हैं , जिनके पास 35 हल्के राजस्व ओर 65 गांव फीर भी कोरोना नियंत्रण प्रबंधन में कर रहे हैं कमाल ।


 बड़नगर तहसील के तीन बडे कस्बे जो की कंई गांवो के बाजार भी है- क्रमशःभाटपचलाना,रुनीजा,खरसौद कला, के साथ राजस्व के 35 हल्के ओर उनके अधिन 65 गांवो में कोरोना नियंत्रण प्रबंधन एक महिला अधिकारी के लिये काफी चुनोती भरा होता है,किन्तु ये दबंग अधिकारी का प्रशासनिक नियंत्रण कमाल का दिखाई दिया है ।


इनके नाम से मुनाफाखोर व्यापारियों में खोफ छाया हुआ है l



वहीं पुलिस थाना भाटपचलाना के थाना प्रभारी राघवेन्द्र सिंह कुशवाह का कुशल पुलिस नियंत्रण भी काबिले तारीफ है, सभी बीट प्रभारी भी पल पल का अपडेशन बनाये हुए हैं वहीं नियंत्रण भी । कोरोना वायरस प्रकोप के कारण एक ओर जहां लोग घरों में दुबके हैं वहीं दूसरी ओर ऐसे पुलिसकर्मी मिसाल बन रहे हैं जो अपने निजी मुद्दों और सुरक्षा को दरकिनार कर अपनी ड्यूटी को प्राथमिकता दे रहे हैं। प्रशंसा में सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने इन्हें ‘कोरोना यौद्धा’ बताया है। ऐसे ही एक कोरोना यौद्धा हैं थाना प्रभारी 24 घंटे अपनी टीम के साथ सक्रिय रहते हैं


प्रशासन ओर पुलिस प्रशासन की पुरी पुरी प्रशंसा शहर से लगाकर गांवो तक सुनाई दे रही हैं,वहीं दबंग नायब तहसीलदार श्री मती रूपकला परमार मैडम की हिम्मत ओर आपातकालीन प्रशासनिक/जन हितार्थ तात्कालिक निर्णय लेने की दक्षता का बखान भी ,चौराहों से लेकर घर की दहलीज के अंदर तक सुनाई दे रहा है ।


प्रशासन ओर पुलिस प्रशासन के संहयोग ओर सौजन्य भाव से ग्रामीण क्षेत्रों में दशकों युवा निशुल्क कोरोना सेवक बनकर, 24 घंटे कोरोना नियंत्रण प्रबंधन के लिए मुस्तेद बनें हुए हैं । ग्राम पंचायत मलोडा के सरपंच मदनलाल पाटिदार सचिव भवंर सिंह राठौर , सहायक सचिव लोकेन्द्र टेलर, ग्राम पंचायत बनबनी के सरपंच दिनेश जाट,ग्राम पंचायत ओरडी के उप सरपंच नृसिंह परिहार,ग्राम पंचायत बादंरबेला के सरपंच रघुनाथ एवं ग्राम पंचायत भाटपचलाना के सरपंच दीपक रुनवाल ने नायब तहसीलदार श्री मती रूपकला परमार मैडम की प्रशासनिक नियंत्रण की तारीफ की हैं,। वहीं कोरोना सेवक निलेष परमार,विपिन परमार, जितेन्द्र सिंह ढोडिया,लोकेन्द्र पाटिदार प्रेम शंकर शर्मा,राकेश मकवाना,रवि मकवाना,लाखन सिंह,कमल पाटिदार,राहुल मकवाना,ईश्वर गुजरवाडिया नंदकिशोर परमार,जितेन्द्र परमार, अर्जुन अरुण चौधरी , राम प्रसाद शर्मा ग्राम पंचायत ओरडी के उप सरपंच नृसिंह परिहार, ने प्रशासन ओर पुलिस प्रशासन के संहयोग की सराहना की है ।


चुन्नीलाल परमार


Popular posts from this blog

बड़नगर की होटल शिव पैलेस में, पुलिस ने दी दबिश, एक युवक युवती को संदिग्ध अवस्था में लिया हिरासत में

रिश्वत कांड में टी, आई, अर्चना नागर एवं एस ,आई, जीवन भिडोरे सहीत तीन को किया पुलिस लाईन संबद्ध "मामला बड़नगर पुलिस थाने का"

पूर्व विधायक गंगाराम परमार का हुआ निधन,शोक लहर छाई